Indian Temples

Online Car, Taxi, Cab Booking in Mathura

Jwalamukhi Mata

January 14th, 2017|

ज्वालामुखी माता
ज्वालामुखी शक्तिपीठ हिन्दू धर्म में प्रसिद्ध 51 शक्तिपीठों में से एक है। हिन्दू धर्म के पुराणों के अनुसार जहाँ-जहाँ माता सती के अंग के टुकड़े, धारण किये हुए वस्त्र और आभूषण गिरे, वहाँ-वहाँ पर शक्तिपीठ अस्तित्व मं आये। इन शक्तिपीठों का धार्मिक दृष्टि से बड़ा ही महत्त्व है। ये अत्यंत पावन तीर्थस्थान कहलाते हैं। […]

Maa Vaishno Devi Ki Yatra

January 14th, 2017|

वैष्णो देवी की यात्रा

चलो बुलावा आया है
कहते हैं पहाड़ों वाली माता वैष्णो देवी सबकी मुरादें पूरी करती हैं। उसके दरबार में जो कोई सच्चे दिल से जाता है, उसकी हर मुराद पूरी होती है। ऐसा ही सच्चा दरबार है- माता वैष्णो देवी का। माता का बुलावा आने पर भक्त किसी न किसी बहाने […]

Vigneshwara Vinayaka Temple Ozar

January 12th, 2017|

विघ्नेश्वर/विघ्नहर विनायक – ओझर
विघ्नेश्वर गणपति मंदिर-अष्टविनायक में सातवें गणेश हैं विघ्नेश्वर गणपति। विघ्नेश्वर गणेश मंदिर पुणे-नासिक हाइवे पर ओझर जिले में जूनर क्षेत्र में स्थित है। यह पुणे-नासिक रोड पर नारायणगावं से जूनर या ओझर होकर करीब 85 किलोमीटर दूरी पर स्थित है।

यह मंदिर कुकड़ी नदीके किनारे पर स्थित हैं। वाया मुंबई – ठाणे – […]

Girijatmaj Vinayak Temple

January 12th, 2017|

श्री गिरजात्मज विनायक
गिरजात्मज का अर्थ है गिरिजा यानी माता पार्वती के पुत्र गणेश। यह माना जाता हैं की यहाँ जिस जगह गणेशजी बिराजमान हैं वहा पार्वतीजीने तपस्या की थी इसीलिये इस गणेश का नाम गिरजा का (पार्वती का) आत्मज (पुत्र) यानिकी गिरजामत है । यह एक पहाड़ पर है और बौद्ध गुफाओं के स्थान पर […]

Chintamani Vinayak Temple Pune

January 12th, 2017|

चिंतामणी विनायक पुणे
अष्टविनायक में पांचवें गणेश हैं चिंतामणि गणपति। चिंतामणी का मंदिर महाराष्ट्र राज्य में पुणे ज़िले के हवेली तालुका में थेऊर नामक गाँव में है। भगवानगणेश का यह मंदिर महाराष्ट्र में उनके आठ पीठों में से एक है। यहाँ गणेश जी ‘चिंतामणी’ के नाम से प्रसिद्ध हैं, जिसका अर्थ है कि “यह गणेश सारी […]

Varadvinayak Kolhapur

January 12th, 2017|

वरदविनायक – कोल्हापुर
श्री वरदविनायक- अष्ट विनायक में चौथे गणेश हैं श्री वरदविनायक। वरदविनायक देवताओं में प्रथम पूजनीय भगवान श्री गणेश का ही एक रूप है। वरदविनायक जी का मंदिर गणेश जी के आठ पीठों में से एक है, जो महाराष्ट्र राज्य में रायगढ़ ज़िले के कोल्हापुर तालुका में एक सुन्दर पर्वतीय गाँव महाड में स्थित […]

Ballaleshwar Ganpati Raigarh

January 12th, 2017|

बल्लालेश्वर विनायक- रायगढ़
बल्लालेश्वर रायगढ़ ज़िला, महाराष्ट्र के पाली गाँव में स्थित भगवान गणेश के ‘अष्टविनायक’ शक्ति पीठों में से एक है। ये एकमात्र ऐसे गणपति हैं, जो धोती-कुर्ता जैसे वस्त्र धारण किये हुए हैं, क्योंकि उन्होंने अपने भक्त बल्लाल को ब्राह्मण के रूप में दर्शन दिए थे। इस अष्टविनायक की महिमा का बखान ‘मुद्गल पुराण’ […]

Siddhivinayak Mandir Mumbai

January 12th, 2017|

सिद्धिविनायक मंदिर मुंबई
सिद्घिविनायक गणेश जी का सबसे लोकप्रिय रूप है। गणेश जी जिन प्रतिमाओं की सूड़ दाईं तरह मुड़ी होती है, वे सिद्घपीठ से जुड़ी होती हैं और उनके मंदिर सिद्घिविनायक मंदिर कहलाते हैं। कहते हैं कि सिद्धि विनायक की महिमा अपरंपार है, वे भक्तों की मनोकामना को तुरंत पूरा करते हैं। मान्यता है कि […]

Mayureshwar Vinayak

January 12th, 2017|

मयूरेश्वर विनायक
मयूरेश्वर या ‘मोरेश्वर’ भगवान गणेश के ‘अष्टविनायक’ मंदिरों में से एक है। यह मंदिर महाराष्ट्र राज्य के मोरगाँव में करहा नदी के किनारे अवस्थित है जो पुणे जिले के अंतर्गत आता है। मोरगाँव का नाम मोर के नाम पर पड़ा क्योंकि एक समय ऐसा था जब यह गाँव मोरों से भरा हुआ था।

मोरगाँव, पुणे […]

Maa Lalita Devi Shakti Peeth Allahabad

January 11th, 2017|

माँ ललिता देवी शक्तिपीठ इलाहावाद(प्रयाग)

बहुत कम लोग जानते हैं कि इलाहावाद स्थित ललिता देवी शक्ति पीठ ईक्यावन शक्ति पीठों में विशेष रूप से महत्वपूर्ण तथा पूजनीय है। जिन ईक्यावन शक्ति पीठों का नाम शास्त्रों मे आता है उसमें प्रयाग स्थित ललिता देवी का नाम इसलिये ज्यादा महत्वपूर्ण माना जाता है कि यह देवी महर्षि भारद्वाज […]