1604, 2018

Sri Madan Mohan Temple Vrindavan

चटोरे मदनमोहन
सनातन गोस्वामी जी मथुरा में एक चौबे जी के घर मधुकरी के लिए जाया करते थे। उन चौबे की स्त्री परमभक्त और मदन मोहन जी की उपासिका थी, उनके घर बाल भाव से मदन मोहन भगवान विराजते थे। असल में सनातन जी उन्ही मदन मोहन जी के दर्शन हेतु प्रतिदिन मधुकरी के बहाने चौबे जी के घर जाया करते थे। मदन मोहन जी तो ग्वार ग्वाले ही ठहरे ये […]

Read More

904, 2018

Gaya Tirth Ki Katha

गया तीर्थ की कथा

ब्रह्माजी जब सृष्टि की रचना कर रहे थे, उस समय उनसे असुर कुल में गया नामक असुर की रचना हो गई। गया असुरों की संतान रूप में पैदा नहीं हुआ था, इसलिए उसमें आसुरी प्रवृति नहीं थी। वह सभी देवताओं का सम्मान और आराधना करता था। उसके मन में एक बात खटक रही थी। वह सोचा करता था कि भले ही मेरा स्वभाव संत प्रवृति का है […]

Read More

1702, 2018

Mahashivratri Kalyanmayee Ratri

महाशिवरात्रि कल्याणमयी रात्रि
‘स्कन्द पुराण’ के ब्रह्मोत्तर भाग में आता है कि ‘शिवरात्रि का उपवास अत्यंत दुर्लभ बताया गया है। उसमें जागरण करना तो मनुष्यों के लिए और दुर्लभ है। लोक में ब्रह्मा आदि देवता और वसिष्ठ आदि मुनि इस चतुर्दशी की भूरि भूरि प्रशंसा करते नहीं थकते हैं। इस दिन यदि किसी ने उपवास किया तो उसे सौ यज्ञों से भी अधिक पुण्य मिलता होता है।

‘शिव’ का तात्पर्य है ‘कल्याण’ […]

Read More

1702, 2018

Mathura Vrindavan Barsana And Duaji Holi Festival 2018 Dates

मित्रों ब्रज की विश्व व्यख्यात् लठामार होली का ढाडा 1 फरवरी ( बसंत पंचमी ) 2018 को गढ गया है। 22 जनवरी यानि बसंत पंचमी से पुर ब्रज में होली महोत्सव शुरू हो चुका है। ब्रज के समस्त मन्दिरों में और ब्रज के गाँवों में व समस्त ब्रज में होली का रंग बरसना शुरू हो चुका है। पुरे विश्व में होली की शुरूआत ब्रज के बाबा बृषभानु के निज गाँव बरसाना से […]

Read More

1202, 2018

Masik Maha Shivratri Vrat Katha, Mahtva, Pooja Vidhi in Hindi

महाशिवरात्रि व्रत, कथा, पूजाविधि और व्रत सामग्री

देवों के देव भगवान भोले नाथ के भक्तों के लिये महाशिवरात्रि का व्रत विशेष महत्व रखता हैं। यह पर्व फाल्गुन कृ्ष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि के दिन मनाया जाता है। इस दिन का व्रत रखने से भगवान भोले नाथ शीघ्र प्रसन्न हों, उपवासक की मनोकामना पूरी करते हैं। इस व्रत को सभी स्त्री-पुरुष, बच्चे, युवा, वृ्द्धों के द्वारा किया जा सकता हैं।

महाशिवरात्रि के दिन […]

Read More

2701, 2018

Braj ki Chaaha ki Mahima

ब्रज की छाछ की महिमा
एक बार जब भगवान श्रीकृष्ण लीला कर रहे थे। तो ब्रह्मा, शिव, इंद्र इत्यादि सभी देवता ठाकुर जी के निकट आये। क्या देखा कि ठाकुर जी अपने हाथ में पीछे कुछ छुपा रहे है। तब देवता बोले – भगवन आप क्या छुपा रहे हो? भगवान चुपचाप खड़े रहे हाथ में एक पात्र रखा हुआ है और उसको पीछे छुपा रखा है।

देवताओ ने फिर पूछा – प्रभु […]

Read More

2101, 2018

Makar Sankranti in Hindi

मकर संक्रांति का महत्व

पुराणों के अनुसार मकर संक्रांति के दिन सूर्यदेव अपने पुत्र शनिदेव के घर एक महीने के लिए जाते हैं, क्योंकि मकर राशि का स्वामी शनि है। हालांकि ज्योतिषीय दृष्टि से सूर्य देव और शनिदेव का तालमेल संभव नहीं, लेकिन इस दिन सूर्यदेव खुद अपने पुत्र शनिदेव के घर जाते हैं। इसलिए पुराणों में यह दिन पिता-पुत्र के संबंधों में निकटता की शुरुआत के रूप में भी देखा […]

Read More

2210, 2017

Prem Mandir Vrindavan

प्रेम मंदिर वृंदावन
प्रेम मंदिर वृंदावन, जिला मथुरा, उत्तर प्रदेश में स्थित है। प्रेम मंदिर का निर्माण जगद्गुरु श्री कृपालु महाराज द्वारा भगवान कृष्ण और राधा रानी के मन्दिर के रूप में करवाया गया है। प्रेम मंदिर की सुन्दरता देखते ही बनती है यह इतना सुन्दर है के प्रेम मंदिर को देखते आप को मंदिर से प्रेम हो जायेगा। इसकी मनहोरता आप का मन मोह लेगी।

प्रेम मन्दिर का निर्माण कार्य जनवरी […]

Read More

1110, 2017

Story of Diwali in Hindi

दीपावली कथा
दीपावली, भारत में हिन्दुओं द्वारा मनाया जाने वाला सबसे बड़ा त्योहार है। दीपों का खास पर्व होने के कारण इसे दीपावली या दिवाली नाम दिया गया है। कार्तिक माह की अमावस्या को मनाया जाने वाला यह महापर्व, काली अंधेरी रात को असंख्य दीपों की रौशनी से प्रकाशमय कर देता है। दिवाली को हर धर्म और सम्प्रदाय के लोग बढे धूमधाम से मानते है।

धर्म और सम्प्रदाय कोई भी हो मगर […]

Read More

310, 2017

Karva Chauth Vrat Katha in Hindi

करवा चौथ व्रत
करवा चौथ का व्रत कार्तिक कृष्ण पक्ष के चतुर्थी तिथि को मनाया जाता है। यह व्रत सुहागिन स्त्रियाँ अपने पति की लम्बी उम्र के लिये करती हैं। यह व्रत सम्पूर्ण भारत वर्ष में बढे धूमधाम से मनाया जाता है।
करवा चौथ व्रत कथा / Karwa Chauth Vrat Katha
महिलाओं के अखंड सौभाग्य का प्रतीक करवा चौथ व्रत की कथा (Karwa Chautha Vrat Katha) इस प्रकार है। एक साहूकार के सात […]

Read More

1409, 2017

Kusum Sarovar Govardhan

कुसुम वन सरोवर
कुसुम सरोवर एक एतिहासिक स्थान है जो गोवर्धन, जिला मथुरा, उत्तर प्रदेश में स्थित है। कुसुम वन सरोवर पवित्र गोवर्धन परिक्रमा मार्ग में स्थित है। यह गोवर्धन से लगभग 2 किलोमीटर की दूरी पर है।

यहां के प्राचीन सरोवर को मध्य प्रदेश के बुंदेला राजा वीरसिंह देव ने 17वीं शताब्दी में पक्का बनवाया था। तत्पश्चात् राजा सूरजमल ने इसका जीर्णोद्धार कराकर इसे भव्य सरोवर का स्वरूप प्रदान किया। सरोवर […]

Read More

509, 2017

Pitari Paksha Shraadh from 5th September to 19th September 2017

श्राद्ध कर्म प्रारम्भ होने की तिथि 5 सितंबर 2017(मंगलवार) से 19 सितंबर 2017(मंगलवार)
यह पितृ पक्ष का समय पुरे वर्ष में सिर्फ एक बार आता है। यह पितरो की आराधना और पूजन तर्पण आदि करके पितरों की प्रसन्नता प्राप्ति हेतु उत्तम समय होता हैं। इस श्राद्ध पक्ष में सभी लोग यथाज्ञान पितरों को प्रसन्न करने हेतु प्रयास भी करते है। यह 16 दिवसीय महालय श्राद्ध पक्ष कहलाता है। इस समय में […]

Read More

2808, 2017

Shri Radha Damodar Temple Vrindavan

श्रीराधादामोदर मन्दिर वृन्दावन
श्रीराधादामोदर मन्दिर की स्थापना रूप गोस्वामी के शिष्य जीव गोस्वामी ने संवत 1599 माघ शुक्ला दशमी तिथि को की थी। मंदिर में छह गोस्वामियों, रूप गोस्वामी, सनातन गोस्वामी, भक्त रघुनाथ, जीव गोस्वामी, गोपाल भट्ट और रघुनाथ दास ने अपनी साधना स्थली बनाई। श्री रूप गोस्वामी जी ने सेवाकुंज के अन्तर्गत यहीं भजन कुटी में वास करते थे।

आज मूल श्री राधादामोदर विग्रह जयपुर में विराजमान हैं। उनकी प्रतिमा विग्रह […]

Read More

1408, 2017

Nidhivana Vrindavan

निधिवन वृन्दावन
कहा जाता है की निधिवन की सारी लताये गोपियाँ है। जो एक दूसरे कि बाहों में बाहें डाले खड़ी है जब आधी रात में निधिवन में राधा रानी जी, बिहारी जी के साथ रास लीला करती है। तो वहाँ की लता पताये गोपियाँ बन जाती है। और फिर रास लीला आरंभ होती है। इस रास लीला को कोई भी नहीं देख सकता। दिन भर में हजारों बंदर, पक्षी, जीव […]

Read More

1408, 2017

Shri Krishna Janmashtami in 2017

Krishna Janmashtami in 2017 is on the Tuesday, 15th of Aug (8/15/2017).
इस बार जन्माष्टमी को लेकर लोगों में शंका हो रही है कि जन्माष्टमी 14 को मनाई जाए या 15 को तो मैं कुछ शास्त्र प्रमाणों के साथ बताने की कोशिश करता हूँ जिस से कि आप का भ्रम दूर हो जाए

अग्नि पुराण में लिखा है कि
वर्जनीया प्रयत्नेन सप्तमीसंयुताष्टमी|
विना ऋक्षेण कर्तव्या नवमी संयुताष्टमी|
अथवा जिस दिन सप्तमी में सूर्योदय हो […]

Read More

608, 2017

Govind Devji Temple

गोविन्द देव जी मंदिर
गोविन्द देव जी मंदिर वृंदावन का निर्माण ई. 1590 (सं.1647) में हुआ। यह मदिर श्री रूप गोस्वामी और सनातन गुरु, श्री कल्यानदास जी के देख रेख में हुआ। श्री गोविन्द देव जी मंदिर का पूरा निर्माण का खर्च राजा श्री मानसिंह पुत्र राजा श्री भगवान दास, आमेर (जयपुर, राजस्थान) ने किया था। जब मुस्लिम सम्राट औरंगजेब ने इसे नष्ट करने की कोशिश की थी तब गोविंददेव जी […]

Read More

1607, 2017

Shri Radha Rani Ji Ke Bare Mein Rochak Jankari

श्री राधारानी जी के बारे में रोचक जानकारी
राधारानी हिन्दू धर्म की देवी हैं। हिन्दू धर्म में भगवान श्री कृष्ण के साथ राधारानी जी का ही नाम लिया जाता है। कई लोग मानते हैं कि राधा जी श्री विष्णुजी की अर्धांगिनी देवी श्री लक्ष्मीजी का अवतार हैं। यह बात पद्म पुराण और भविष्यपुराण से जाहिर होती है। राधा-कृष्ण को शाश्वत प्रेम का प्रतीक माना जाता हैं। माना जाता है कि राधा-कृष्ण […]

Read More

2805, 2017

Jeevan Ka Pratyek Chan Molyavan

जीवन का प्रत्येक क्षण मूल्यवान

यह घटना उस समय की है, जब मानव का जन्म भी नहीं हुआ था। विधाता जब सूनी पृथ्वी को देखते, तो उनको उसमे कुछ न कुछ कमी नजर आती थी और वह दिन-रात सोच में पड़े रहते थे। आखिरकार विधाता ने चंद्रमा से मुस्कान ली, गुलाब से सुगंध, अमृत से माधुरी, जल से शीतलता, अग्नि से तपिश और पृथ्वी से कठोरता और फिर मिट्टी का एक […]

Read More

905, 2017

Yah Hai Ram Naam Ki Mahima

यह है राम नाम की महिमा

एक संत रास्ते पर राम का नाम जपते हुऐ जा रहे थे। चलते चलते राम धुन में वह इतना खो गये की वो घने जंगल में जा पहुँचे। जंगल मे बरगद के पेड के नीचे कुछ लोग मदमस्त होकर नाच रहे थे। संत को देख उनका मुखिया बोला रे मानव क्या तुझे अपने प्राणों का जरा सा भी मोह नहीं जो तु चला आया , […]

Read More

2604, 2017

Charan Darshan of Thakur Shri Banke Bihari on Akshaya Tritiya

बोलो बाँके बिहारी लाल की जय

18 अप्रैल 2018 को ठाकुर श्री बाँके बिहारी जी महाराज के श्री चरण के दर्शन होंगे। सुबह में ठाकुर जी के श्री चरण के दर्शन होंगे और शाम को ठाकुर जी के सर्रवानग दर्शन होंगे शाम को ठाकुर जी केवल सानिया ( धोती ) पहनते है। आज के दिन ठाकुर जी के श्री चरण में चंदन का गोला बनाकर रखा जाता है ओर साथ ही […]

Read More