श्री यमुना महारानी जी / विश्राम घाट

श्री विश्राम घाट, श्री द्वारिकाधीश जी मंदिर से 30 मीटर की दूरी पर, नया बाजार में स्थित है। यह मथुरा जी के 25 घाट में से एक प्रमुख घाट है। श्री यमुना महारानी जी की आरती विश्राम घाट से ही की जाती है। विश्राम घाट पर श्री यमुना महारानी जी का अति सुंदर मंदिर स्थित है। विश्राम घाट पर संध्या का समय और भी अध्यात्मिक होता है। संध्या के समय श्री यमुना महारानी जी की भव्य आरती होती है। इस आरती में पांच पडित, पाच भव्य आरती से माँ श्री यमुना महारानी की आरती करते है।

श्री विश्राम घाट पर श्री यमुना महारानी जी के अलावा और भी मंदिर स्थित है। भगवान श्री कृष्ण और बलदाऊ जी (मुकुट) मंदिर, नीलकंठेश्वर महादेव मंदिर, राधा दामोदर मंदिर, यमुना कृष्णा मंदिर, लंगली हनुमान मंदिर, नरसिंह मंदिर, मुरलीमन्होर मंदिर, वेनी महादेव मंदिर, भगवान यमराज महाराज और यमुना महारानी मंदिर अदि स्थित।

Shri Krishna Balram Temple

श्री विश्राम घाट से संबंधित प्राचीन कहावत है कि जब भगवान श्री कृष्ण और बलदाऊ जी कंस का वध करने के पश्चात इस घाट पर विश्राम किया था। इसलिये इस घाट का नाम विश्राम घाट है।

shri-yamuna-ji-temple-shrimathuraji

श्री मथुरा जी में 25 घाट है जिनके नाम

गणेश घाट, दशाश्वमेध घाट, सरस्वती संगम घाट, चक्रतीर्थ घाट, कृष्ण गंगा घाट, सोमा तीर्थ घाट (स्वामी घाट), श्याम घाट, राम घाट, बुद्ध घाट, रावण कोटी घाट, सूर्या घाट, सप्तऋषि घाट, प्रयाग घाट, घटा धरन घाट, वैकुंठ घाट, नवतीर्थ घाट, अस्कुंडा घाट, कनखल घाट, मोक्ष तीर्थ घाट, धुर्व घाट, गुप्ततीर्थ घाट, धारापतन घाट, गऊ घाट।

shri-yamuna-maharani-ji-arti-shrimathuraji