हिंगलाज शक्तिपीठ

हिंगुला या हिंगलाज शक्तिपीठ जो कराची से 125 किमी उत्तर पूर्व पाकिस्तान के ब्लूचिस्तान प्रान्त में स्थित एक हिन्दू मंदिर है। माता हिंगलाज शक्तिपीठ, जहां माता का ब्रह्मरन्ध्र (सर का ऊपरी भाग) गिरा था। यहां की शक्ति कोट्टरी और भैरव भीमलोचन है। हिंगलाज देवी से सम्बन्धित छंद गीत चिरजाए अवश्य मिलती है। प्रसिद्ध है कि सातो द्वीपों में सब शक्तियां रात्रि में रास रचाती है और प्रात:काल सब शक्तियां भगवती हिंगलाज के गिर में आ जाती है।

सातो द्वीप शक्ति सब रात को रचात रास।
प्रात:आप तिहु मात हिंगलाज गिर में॥

इस शक्तिपीठ में शक्तिरूप ज्योति के दर्शन होते हैं। गुफ़ा में हाथ व पैरों के बल जाना होता है। मुसलमान हिंगुला देवी को ‘नानी’ तथा वहाँ की यात्रा को ‘नानी का हज’ कहते हैं। पूरे बलूचिस्तान के मुसलमान भी इनकी उपासना व पूजा करते हैं।