Mathura Temples

Nidhivana Vrindavan

निधिवन वृन्दावन

कहा जाता है की निधिवन की सारी लताये गोपियाँ है। जो एक दूसरे कि बाहों में बाहें डाले खड़ी है जब आधी रात में निधिवन में राधा रानी जी, बिहारी जी के साथ रास लीला करती है। तो वहाँ […]

Read More

 0

Govind Devji Temple

गोविन्द देव जी मंदिर

गोविन्द देव जी मंदिर वृंदावन का निर्माण ई. 1590 (सं.1647) में हुआ। यह मदिर श्री रूप गोस्वामी और सनातन गुरु, श्री कल्यानदास जी के देख रेख में हुआ। श्री गोविन्द देव जी मंदिर का पूरा निर्माण का […]

Read More

 0

Shri Radha Raman Temple Vrindavan

श्री राधारमण मन्दिर वृन्दावन

श्री राधारमण मन्दिर वृन्दावन के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है। श्री राधारमण मन्दिर में श्री गोपालभट्ट गोस्वामी जी के पूज्यनीय ठाकुर हैं। इस मंदिर में श्री राधारमण जी के ललित त्रिभंगी मूर्ति के दर्शन हैं। मान्यता […]

Read More

 0

Shri Dauji Maharaj Temple Baldev

दाउजी जी महाराज मूर्ति का प्राकट्य

एक दिन श्री कल्याण-देवजी को ऐसी अनुभूति हुई कि उनका मथुरा तीर्थाटन का आदेश दे रहा है। कुछ समय सोच-विचार में ही बीत गया। परन्तु श्री कल्याण-देवजी के मन से मथुरा तीर्थाटन की बात जी […]

Read More

 0

Pagal Baba Temple

पागल बाबा मंदिर

एक पंडितजी थे वो श्रीबांके बिहारी लाल को बहुत मानते थे सुबह-शाम बस ठाकुरजी ठाकुरजी करके व्यतीत होता। पारिवारिक समस्या के कारण उन्हें धन की आवश्यकता हुई। तो पंडित जी सेठ जी के पास धन मांगने गये। सेठ […]

Read More

 1

Shri Radha Rani Temple Barsana

श्री राधा रानी मंदिर बरसाना

मथुरा से 25 किमी दूर बरसाना गांव स्थित है। बरसाना गांव नाम होने का कारण – श्री वृषभानु महाराज जी, श्री नन्द महाराज जी अत्यंत स्नेह करते थे। श्री नंद महाराज जब गोकुल में निवास कर […]

Read More

 6

श्री दाऊजी महाराज

यह स्थान मथुरा जनपद में ब्रजमंडल के पूर्वी छोर पर स्थित है। मथुरा से 21 कि॰मी॰ दूरी पर एटा-मथुरा मार्ग के मध्य में स्थित है। मार्ग के बीच में गोकुल एवं महावन जो कि पुराणों में वर्णित ‘वृहद्वन’ के नाम […]

Read More

 0

Maa Gayatri Tapobhumi Mathura

माँ गायत्री तपोभूमि

भगवान श्री कृष्ण की जन्मभूमि, महर्षि दुर्वासा तथा महर्षि अंगिरा की तपस्थली में वृंदावन मार्ग, मथुरा पर गायत्री तपोभूमि स्थित है। वेदमूर्ति पंडित श्री राम आचार्य ने 30.05.1953 से 22.06.1953 तक उपवास (मात्र गंगाजल लेकर) किया तथा वेदमाता, […]

Read More

 0

Shri Gokarna Mahadev

श्री गोकर्ण महादेव जी

श्री मथुरा जी के चार महादेवो में से एक श्री गोकर्ण महादेव भी है। इनका लेख भगवत गीता में भी मिलता है। श्री गोकर्ण जी के पिता का नाम आत्मदेव और माता का नाम धुंदली था। उनकी कोई संतान […]

Read More

 0

Maa Chamunda Ji

माँ चामुण्डा जी

अजगर को मुक्ति देने के बाद श्री कृष्ण ने किए थे माँ चामुण्डा के दर्शन

51 शक्तिपीठों में से प्रधान शक्तिपीठ बताई जाने वाली माँ चामुण्डा का मंदिर मथुरा-वृन्दावन मार्ग पर स्थित माँ गायत्री तपोभूमि के सामने बना हुआ है। […]

Read More

 0